Best Independence Day Speech For Teachers 2019

Independence Day Speech For Teachers 2019

Independence Day Speech For Teachers 2019  – On Independence Day lots of teachers & Students, They give speech before audience . If you are one of them . This is best article for you.

 

Independence Day Speech For Teachers 2019

Best Independence Day Speech For Teachers 2019

Independence day speech for teachers August 15, 2019, India’s celebrating the 73rd anniversary of our independence day. India earned its independence from British rule on 15 August 1947. Later freedom, we got all of our fundamental rights in our motherland, our homeland.

We must all be happy of being Indians, and we must understand our fortune on the independent land of India. The history of Das in India shows us all that our forerunners and ancestors did very hard, and how they faced all the harsh behaviour of the British.

We cannot think about how difficult India’s independence from British control is.

Today we have every freedom in education, transportation, trade and every field. Although there was no so position before 1947, and there was no freedom for people. During British rule, children/teacher were not permitted to go to school, and no free deal was approved.

All the assets were taken from India and sold in the British market at a high price, and the Indians did not get any benefits. Indians were considered workers. It caught enough of the struggle for freedom from 1857 to 1947 and decades of effort.

The British army, an Indian soldier (The Mangal Pandey) lifted a voice against the British for the independence of India. Later many of the great freedom fighters fought and spent their whole lives to got freedom.

You should never forget the losses of Bhagat Singh, Kadi Ram Bos, and Chandrasekhar Azad, who lost his life in his early years fighting for his country. How can we ignore all fruitful struggles and Gandhi was a great Indian figure who guided the Indians great teaching about non-violence.

He was the only & only one who led India to gain freedom with the advice of nonviolence. After that, the effect of many times of fight for independence in India on 15th Aug 1947.

15th August is a huge day for all these Indians, who remember the sacrifice of great Indian people who reduced their lives for freedom and success in the nation.

India’s freedom was possible because of teamwork, friendship, and strength. We must all thank and praise all the Indian army because they are real public heroes. We Should believe in secularism, and we must never break. We must be saved the unity so that no one can crack and then judge

 

"<yoastmark

Independence Day Speech For Teachers In Hindi

  स्वतंत्रता दिवस पर शिक्षको के लिये भाषण/

आदरणीय मुख्य अतिथि, प्रधानाचार्य, एवं प्रिय मित्रो और प्यारे विद्यार्थियो आप सभी का हार्दिक अभिनंदन और आज के इस स्वतंत्रता दिवस के कार्यक्रम में आप सभी का हार्दिक स्वागत है।

यह वाकई बहुत ही आंनद का अवसर है की इस वर्ष हमारी आजादी के 73 वर्ष पूरे हो गये है और आज इस अवसर पर आप सब को सम्बोधित करते हुए मुझे काफी प्रसन्नता महसूस हो रही है। एक भारतीय के तौर 15 अगस्त २०१९ के दिन हम बहुत ही गर्वित महसूस करते है, क्योंकि इस दिन हमारे वीरो के द्वारा किये गये वर्षो के संर्घष और बलिदान के पश्चात अंततः हमारे देश को एक स्वतंत्रता प्राप्त हुई। हमे कभी भी अपने पूर्वजो द्वारा किये गये बलिदान को नही भूलना चाहीये और सदैव अपनी इस आजादी का आदर करना चाहिये क्योकि ये सभी लोगो के कारन आज हम आज़ादी की सांस ले पा रहे है| साथ ही हमे अपने ह्रदय में देशभक्ति की भावना रखनी चाहिये। क्योंकि यदि हम ऐसा नही करते तो ये हमारे पूर्वजो और क्रांतिकारीयो का अपमान होगा। ये देश का भी अपमान होगा |

Best Independence Day Speech For Teachers 2019

 

हमारा देश शुरू से ही समृद्ध रहा है, जिसके वजह से भारत को सोने की चिड़िया भी कहा जाता था। अंग्रजो ने सीधे तौर पे हम पर हमला नही किया, बल्कि की उन्होने व्यापार के बहाने अपने धोखा और कपटी नितीयो के द्वारा हमारे देश के विभिन्न-2 हिस्सो पर कब्जा किया। जिसके लिये उनहोने “फूट डालो राज़ करो” जैसे नितीयो का सहारा लिया। हम सब जानते है कि हमारा देश विविधता से भरा हुआ और अंग्रजो ने इसी का फायदा उठाते हुए हमें धर्म, जाति, वर्ग और सम्प्रदाय तमाम तरह के आधारो पर बांट दिया और हम भारतीय उनके इस धूर्तता भरे व्यवहार को पहचान ना सके और अपनी हर एक प्यारी चीज गवां बैठे। इसलिए हमको कभी भी धरम जाति समुदाय के नाम पर नहीं लड़ना चाइये

जब अंग्रजो का यह कष्टदायी और अत्याचारी व्यवहार सभी सीमाओ को पार कर गया तब हमारे वीर चंद्र शेखर आजाद, भगत सिंह, सुभाष चंद्र बोस, लाला लाजपत राय, रानी लक्ष्मी बाई जैसे कई आजादी के मतवाले सामने आये और इस परिस्थिती का डटकर सामना करते हुए अंग्रजो को हमारे देश से खदेड़ने में कामयाब रहे। इन्होने  हर बात का जवाब दिया | इसी के साथ ही उन्होंने अंग्रजो के कुटील नितीयों का भी पर्दाफाश किया, जिसके अंतर्गत वह हमारे देश में अपना शासन स्थापित करना चाहते थे। काफी संर्घषो के पश्चात और लोगो के संगठित के प्रयासो के चलते हम आजादी प्राप्त करने में सफल रहे। हमारे क्रांतिकारियों ने उस सुनहरे सपने को देखा, जिसमे हमारा देश पूर्ण रुप से आजाद हो और अपने इस सपने को पूरा करने के लिये ना सिर्फ उन्होने लड़ाई लड़ी बल्कि की मातृभूमि के लिये अपने प्राणों का भी बलिदान दे दिया।

इस पूरे समयकाल के दौरान हमारा देश ने कई कठिनाईयो का सामना किया। हालांकि एक बार स्वतंत्रता प्राप्त करने के बाद हमने कभी पीछे मुढ़कर नही देखा। हमारा देश विज्ञान, प्रौद्योगिकी, कृषि और उद्योग में भी तेजी से तरक्की कर रहा है। इस दौरान हमारे देश में कई आतंकवादी हमले और राजनैतिक घोटाले हुए। जिन्होंने हमारे देश के अर्थव्यवस्था और एकता को हिलाकर रख दिया, लेकिन फिर भी हमारा देश उसी जोश और उमंग के साथ आगे बढ़ रहा है।

तो आइये शपथ लेते है कि हम हमेशा अपने कार्यो से अपने देश का गौरव बढ़ाने का प्रयत्न करेंगे और अपने पूर्वजो और महान क्रांतकारियो के बलिदान को कभी व्यर्थ नही जाने देंगे।

आप सभी का धन्यवाद, तो आइये साथ मिलकर बोलते है मेरा भारत माता महान!


 

स्वतंत्रता दिवस पर शिक्षको के लिये भाषण 4

आप सभी को शुभ प्रभात इसके साथ ही आप सब को इस स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाए!

विद्यार्थियो आप सभी आश्चर्यचकित होंगे की हमारे विद्यालय में आज स्वतंत्रता दिवस के दिन इस कार्यक्रम का आयोजन क्यो किया गया है, जबकि हर बार यह कार्यक्रम एक दिन पहले आयोजित किया जाता है। तो मैं आपको बता दूँ कि विद्यालय समिति द्वारा यह निर्णय इस लिये गया है ताकि इस अवसर को और भी खास बनाये जा सके। स्वतंत्रता दिवस हमारे देश में राष्ट्रीय अवकाश के रुप में घोषित है और जैसा कि हम सब जानते है कि यह 15 अगस्त के दिन मनाया जाता है।

आज के ही ऐतहासिक दिन हमारे देश को हमारे पूर्वजो के संर्घषो और बलिदानो के चलते हमे स्वतंत्रता की प्राप्ति हुई थी, इसलिये हम भारतीयो के लिये यह एक महात्वपूर्ण दिन है। महात्मा गाँधी, भगत सिंह, सुभाष चंद्र बोस जैसे क्रांतिकारियो ने हमारे देश को गुलामी की बेड़ियो से मुक्त कराने के लिये अपने प्राणो की आहुती दी। तो आइये उन सभी महान आत्माओ का स्मरण करते है, जिन्होने स्वंय के लिये ना जीकर अपनी इस मातृभूमि के लिये जीवन व्यतीत किया।

इसके आलावा अपने देश के प्रति निष्ठा से कार्य करने के साथ ऐसा कोई कार्य ना करके जिससे हमारे राष्ट्र के एकता और अखंडता पे आघात आये और ऐसा करक के भी अपने क्रांतिकारियों और स्वतंत्रता सेनानियो के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि अर्पित कर सकते है। इस देश में पैदा होने और यहाँ के नागरिक होने के नाते यह हमारा कर्तव्य बनता है कि हम अपने देश का नाम रोशन करे। हमसे यह उम्मीद नही की जाती है की हम जोश में आकर युद्ध करे बल्कि की हमसे जितना हो सके अपने देश हित में काम करे, क्योंकि यही सच्चे मायने में यही देशभक्ति है।

इससे कोई फर्क नही पड़ता की एक व्यक्ति पेशे से डाक्टर, इंनजिनयर, शिक्षक या पायलट है, महत्व इस बात का है कि हम जो भी कार्य करे, उसे पूरी मेहनत और ईमानदारी से करे। इसके अलावा हमे मेहनत से बिना कीसी को कोई नुकसान पहुचाये अपनी मातृभूमि की सेवा करनी चाहिये। जिससे हममे भाईचारे, दया और सत्यता आदि गुण उत्पन्न हो।

एक वयक्ति जोकि धोखेबाज और गलत प्रवृत्ति का होगा ना सिर्फ अपने परिवार का बल्कि की पूरे राष्ट्र का नाम कलंकित करेगा और हमारे राष्ट्र को ऐसे लोगो की कोई आवश्यकता नही है। हमारे देश को ऐसे  व्यक्तियों की आवश्यकता है, जोकि मेहनती और ईमानदार हो। तो विद्यार्थियो क्योकि आप सभी इस देश का भविष्य है, इसलिये आप से अपेक्षा की जाती है कि आप ऐसे रास्ते पर चलेंगे और आचरण का पालन करेंगे जिससे कभी भी हमारे देश का शीश ना झुके।

हमारा देश की भूमि एक बहुत ही समृद्ध भूमि है, जहाँ विभिन्न प्रकार के सांस्कृतिक, धार्मिक, सामाजिक और नैतिक मूल्यो का अनुसरण करने वाले रहते है। हम प्राचीन समय से ही आयुर्वेद और विज्ञान के क्षेत्र में शीर्ष पर रहे है। इन्ही गुणों के चलते भारत अन्य देशो के तुलना में पश्चिमी देशो में काफी लोकप्रिय है। हमारा भारत अपने विशाल सांस्कृतिक, सामाजिक और भैगोलिक विविधताओं के लिये भी जाना जाता है।

इसलिये हमे गर्व होना चाहिये की हमने भारत जैसे देश में जन्म लिया, जोकि विश्व का सबसे बड़ा लोकतंत्र और एक तेज विकासशील देश है। हमने दूरसंचार, हरित क्रांति, अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी जैसे क्षेत्रो में सफलता प्राप्त की है और इसके साथ ही अब हम सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में भी उभरते हुए देशो में से एक है।

मैं यह उम्मीद करता हूँ की हमारा देश इसी प्रकार से हर क्षेत्र में उन्नति करते हुए आने वाले समय में विश्व में अगले महाशक्ति के रुप में स्थापित होगा। अपनी तरफ से मैं आप सब से बस इतना ही कहना चाहता था।

धन्यवाद!

Best Independence Day Speech For Teachers 2019 Ends Here….

Sharing is caring | Share the Article |

Read More –

Independence Day Speech in English 2019

Short Speech On Independence Day For Students For Primary Students

Happy Independence Day Speech 2019

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *